Friday, May 29, 2009

सहेलीयों की बावडी़


उदयपुर की रानीयों व राजकुमारीओं के विश्राम के लीये बनवाई गई थी सहेलीयों की बावडी़ । हरी-भरी वादीयों से घिरे इस विश्राम स्थल में 4 बावडी़यां तथा कई फव्वारे लगे हुए हैं उस समय बिजली व मोटरें नहीं होती थी इसीलीये इसे पिछौला लैक से कम ऊंचाई पर बसाया गया था ताकि पानी के दबाव से फव्वारे खुद ही चलें । ये फव्वारे आज भी बिना किसी पंप के चलते हैं । india rajasthan udaipur

1 comments:

Nirmla Kapila May 29, 2009 at 2:32 PM  

इसका पूरा विवरण भी देते तो अच्छा था बहुत सुन्दर लगी आभार्

Blog Widget by LinkWithin

  © Blogger templates Psi by Ourblogtemplates.com 2008

Back to TOP