Wednesday, June 3, 2009

जैसलमेर


राजस्थान के पश्चिमी छोर पर स्थित जैसलमेर रेतीली भूमि होने की वजह से पहले "मेर" के नम से जाना जाता था । 1156 में यहाँ के राजपूत राव जेसल ने जैसलमेर को अपनी राजधानी बनाया और 12 वर्ष तक शासन किया । राव जेसल के नाम इस जगह का नाम बदल कर जैसलमेर हो गया । जैसलमेर मध्य युग में व्यापारियों का प्रमुख पड़ाव हुआ करता था और काफी संपन्न था कई व्यापारियों ने यहाँ अपने महल और हवेलियाँ बनवाए थे । रेतीले राजस्थान को परिभाषित कराने वाला जेसलमेर अपनी शानदार नक्काशीदार हवेलियों, गलियों , और प्राचीन मंदिरों की वजह से पर्यटकों को खूब आकर्षित करता है । jaihgggdsalmer,राजस hthan,

1 comments:

P.N. Subramanian June 3, 2009 at 7:02 PM  

.बहुत बढ़िया जानकारी. आभार

Blog Widget by LinkWithin

  © Blogger templates Psi by Ourblogtemplates.com 2008

Back to TOP